गुरुवार, 26 जुलाई 2012

आज का चिंतन

अक्सर मैं ऐसे बच्चे जो मुझे अपना साथ दे सकते हैं, के साथ हंसी-मजाक करता हूँ. जब तक एक इंसान अपने अन्दर के बच्चे को बचाए रख सकता है तभी तक जीवन उस अंधकारमयी छाया से दूर रह सकता है जो इंसान के माथे पर चिंता की रेखाएं छोड़ जाती है.
.......वल्लभभाई पटेल

बुधवार, 25 जुलाई 2012

आज का चिंतन


हम जो कुछ भी हैं वो हमने आज तक क्या सोचा इस बात का परिणाम है. यदि कोई व्यक्ति बुरी सोच के साथ बोलता या काम  करता है , तो उसे कष्ट ही मिलता है. यदि कोई व्यक्ति शुद्ध विचारों के साथ बोलता या काम करता है, तो उसकी परछाई की तरह ख़ुशी उसका साथ कभी नहीं छोडती .
......गौतम बुद्ध 

मंगलवार, 24 जुलाई 2012

आज का चिंतन

आप जिस कार्य को कर रहे हैं उस पर पूरे मनोयोग से ध्यान केंद्रित करें. सूर्य की किरणों से उस समय तक अग्नि प्रज्वलित नहीं होती है जब तक उन्हें केंद्रित नहीं किया जाता है.
....अलेक्जेंडर ग्राहम बैल 

सोमवार, 23 जुलाई 2012

आज का चिंतन

जैसे मोमबत्ती बिना आग के नहीं जल सकती , मनुष्य भी आध्यात्मिक जीवन के बिना नहीं जी सकता.
......गौतम बुद्ध

शनिवार, 21 जुलाई 2012

आज का चिंतन

बंधुओं ! हम मौत को बुरा नहीं कहते , यदि हम जानते कि वास्तव में मरा कैसे जाता है.
........ श्री गुरु नानक देव

शुक्रवार, 20 जुलाई 2012

आज का चिंतन

क्रोध कभी भी बिना कारण नहीं होता, लेकिन कदाचित ही यह कारण सार्थक होता है.
.... बेंजामिन फ्रेंकलिन 

शुक्रवार, 13 जुलाई 2012

आज का चिंतन


 विश्व के सभी धर्म, भले ही और चीजों में अंतर रखते हों, लेकिन सभी इस बात पर एकमत हैं कि दुनिया में कुछ नहीं बस सत्य जीवित रहता है.
.......महात्मा गाँधी 

गुरुवार, 12 जुलाई 2012

आज का चिंतन

इतने भगवान और इतने धर्म, और इतनी घुमावदार राहें. सिर्फ़ करुणा की कला की ज़रूरत है इस दुखी संसार को.
.......एल्ला व्हीलर विलकौक्स (कवियत्री)

बुधवार, 11 जुलाई 2012

आज का चिंतन

कुछ कर गुजरने की महान कला के साथ ही कुछ चीजों को ऐसे ही रहने देने की कला भी महान है. जीवन की सूझबूझ गैर जरूरी चीजों के उन्मूलन में है.
......लिन युटांग 

सोमवार, 9 जुलाई 2012

आज का चिंतन

आप किसी व्यक्ति से जिस भाषा को वह समझता हो उसमें बात करें तो बात उसकी समझ में आती है. लेकिन आप अगर उससे उसकी मातृभाषा में बात करें तो वह उसके दिल में जाती है.
.......नेल्सन मंडेला 

रविवार, 8 जुलाई 2012

आज का चिंतन

जब छोटे लोगों की परछाईं बड़ी होने लगे, तो समझ लीजिए सूर्य डूबने को है.
......लिन युटांग

शनिवार, 7 जुलाई 2012

आज का चिंतन


जीवन की विडम्बना यह नहीं है कि आप अपने लक्ष्य तक नहीं पहुंचे, बल्कि यह है कि पहुँचने के लिए आपके पास कोई लक्ष्य ही नहीं था.
.......बेंजामिन मेस


शुक्रवार, 6 जुलाई 2012

आज का चिंतन

एक सफल व्यक्ति बनने की कोशिश मत करो , बल्कि मूल्यों पर चलने वाले व्यक्ति बनो.
..........अल्बर्ट आइन्स्टाइन

गुरुवार, 5 जुलाई 2012

आज का चिंतन

सामने वाले आदमी में जिस गुण की कमी है, उस सद्गुण का प्रत्यक्ष दर्शन अपने व्यवहार द्वारा करा देना ही उसकी सबसे बड़ी सेवा है.
......अरुंडेल

बुधवार, 4 जुलाई 2012

आज का चिंतन

जब तक आप अपनी कद्र नहीं करते, आप अपने समय की कद्र नहीं करेंगे. और आप अपने समय की कद्र नहीं करेंगे तो आप कुछ नहीं कर पायेंगे.
......एम. स्कॉट पेक

मंगलवार, 3 जुलाई 2012

सोमवार, 2 जुलाई 2012

आज का चिंतन

जो दूसरों की मुसीबत में काम आता है उस पर कभी मुसीबत नहीं आती. हर किसी को खुश रखने के चक्कर में इंसान को अपने कार्यों से समझौता नहीं करना चाहिए.  (संकलित)

रविवार, 1 जुलाई 2012

आज का चिंतन

मैंने दार्शनिकता से सीखा है कि मैं वह सब कुछ बिना आदेश के करता हूँ जो आम लोग कानून के डर से करते हैं.
........अरस्तू