गुरुवार, 22 मार्च 2012

आज का चिंतन

जिसके पास बुद्धि है, उसी के पास बल है. बुद्धिहीन में बल कहाँ.
........विष्णु शर्मा 

1 टिप्पणी:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति| नवसंवत्सर २०६९ की हार्दिक शुभकामनाएँ|

    उत्तर देंहटाएं