शनिवार, 26 नवंबर 2011

आज का चिंतन

भाग्य कुछ भी नहीं करता है, यह तो केवल कल्पना है.
.......योग वसिष्ठ 

1 टिप्पणी:

  1. वाह आप तो सदविचारों का खज़ाना समेटे हुए हैं

    ठाले-बैठे पर पधारने के लिए बहुत बहुत आभार

    उत्तर देंहटाएं